Share Market: शेयर मार्केट की चढ़ाई पर लगा ब्रेक, निवेशकों में मची खलबली

0
34
share market loss

भारत के बेंचमार्क सूचकांक लगातार सात सत्रों की तेजी के बाद गुरुवार को गिर गए। विशेषज्ञों का मानना है कि ऐसा इसलिए है क्योंकि निवेशक भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) की मौद्रिक नीति फैसले से पहले निवेश करने में सावधानी बरत रहे हैं।

Share Market: कितना गिरा मार्केट

एनएसई निफ्टी 50 इंडेक्स (.NSEI) 0.17% गिरकर 20.901.15 पर आ गया, जबकि एसएंडपी बीएसई सेंसेक्स (.BSESN) 0.19% गिरकर 69,521.69 पर आ गया। उपभोक्ता स्टॉक (.NIFTYFMCG) सभी बेंचमार्क इंडेक्स में सबसे अधिक .90% नीचे गिरे।

shares value fall

यह उल्लेख करना महत्वपूर्ण है कि निफ्टी 50 (.NSEI) पिछले सात सत्रों में 5.77% बढ़ा था और रिकॉर्ड उच्च स्तर पर पहुंच गया था। बुधवार को बाजार बंद होने पर सूचकांक दो साल से अधिक समय में अपने सबसे अधिक खरीद स्तर पर था।

Share Market: विशेषज्ञ क्या कहते हैं?

भारतीय शेयर बाजार के बारे में विशेषज्ञों की राय है कि ‘हालांकि समग्र व्यापक आर्थिक दृष्टिकोण, तरलता, भारतीय शेयरों के लिए अनुकूल बनी हुई है। हालांकि, विशेषज्ञों का मानना है कि हालिया तेज रैली के बाद बेंचमार्क निफ्टी 50 एक सीमित दायरे में कारोबार करेगा।’

विश्लेषकों को उम्मीद है कि शुक्रवार को भारतीय रिजर्व बैंक की मौद्रिक नीति के फैसले से पहले बाजार 21,000 के स्तर के आसपास रैली करेगा। यह वह जगह है जहां केंद्रीय बैंक द्वारा लगातार पांचवीं बैठक में दरें 6.50% पर रखने की उम्मीद है।

Share Market: किन स्टॉक्स ने लगाए गोते

कई ब्रोकरेज द्वारा निकट अवधि के आय परिदृश्य पर चिंता जताए जाने के बाद हिंदुस्तान यूनिलीवर (HLL.NS) में लगभग 2% की गिरावट आई।

RBI द्वारा उपभोक्ता ऋण नियमों को कड़ा करने के बाद कम मूल्य वाले व्यक्तिगत ऋणों में कटौती करने की कंपनी की योजना पर Paytm (PAYT.NS) 18.66% गिर गया।

stocks in loss

मीडिया कंपनियों TV18 ब्रॉडकास्ट (TVEB.NS) और नेटवर्क18 मीडिया एंड इन्वेस्टमेंट्स (NEFI.NS) को $1.2 बिलियन के विलय सौदे की घोषणा के बाद क्रमशः 7% और 8% का नुकसान हुआ। पिछले छह सत्रों में दोनों शेयरों में क्रमशः 33.65% और 18.76% की वृद्धि हुई थी।

सरकार द्वारा संचालित इरकॉन इंटरनेशनल (IRCN.NS) को 6.51% का नुकसान हुआ, जब इंजीनियरिंग और निर्माण कंपनी ने कहा कि भारत सरकार सप्ताह के दौरान 8% हिस्सेदारी बुधवार के बंद होने तक 10.5% की छूट पर बेचेगी।

Share Market: RBI Monetary Policy

(RBI) ने अपनी दिसंबर की मौद्रिक नीति में रेपो दर को 6.5% पर अपरिवर्तित रखा है, जो 2023 के लिए इसकी अंतिम नीति भी है। दरों को अपरिवर्तित रखने के अपने रुख को बरकरार रखते हुए, दरों को अपरिवर्तित छोड़ने के केंद्रीय बैंक के निर्णय को 6-सदस्यों द्वारा सर्वसम्मति से वोट दिया गया था।

Share Market: RBI Monetary Policy पर शेयर मार्केट का रिएक्शन

RBI नीति निर्णय के जवाब में हमारे बाजार में तेजी जारी है, निफ्टी 21,000 के महत्वपूर्ण मील के पत्थर तक पहुंच गया है। विशेषज्ञों का मानना है कि यह गति जारी रहेगी और आने वाले दिनों में बाजार में कुछ ठहराव आने की संभावना है।

monetary policy reaction on share market

बैंकिंग और वित्तीय शेयर अपने मौजूदा मूल्यांकन और बुनियादी ताकत को देखते हुए बेहतर प्रदर्शन करने के लिए विशेष रूप से अच्छी स्थिति में हैं। विशेषज्ञ अनुमान लगा रहे हैं कि मध्यम अवधि में निफ्टी 21,275/21,500 और बैंक निफ्टी 48,800/50,000 तक पहुंच सकता है।

ALSO CHECK: Royal Enfield Himalyan के लॉंच के बाद Eicher Motors Share दे रहा इतना बम्पर प्रॉफिट, जानकर रह जाएँगे हैरान

लोगों न और क्या पूछा

1. क्या शेयर बाज़ार में निवेश करना हानिकारक है?

निवेश के साधन के रूप में, स्टॉक निवेश जोखिम भरा है। हालाँकि आप जोखिम कम कर सकते हैं, लेकिन यह बैंक सावधि जमा जितना सुरक्षित नहीं होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here