Thursday, February 29, 2024
HomeBusinessअगले हफ्ते इस PSU शेयर पर रहेगी निवेशकों की नज़र, जिसकी रफ़्तार...

अगले हफ्ते इस PSU शेयर पर रहेगी निवेशकों की नज़र, जिसकी रफ़्तार देख एक्सपर्ट्स भी दंग 

नमस्कार दोस्तों, शेयर बाजार में पिछला हफ्ता काफी उतार-चढ़ाव भरा रहा। निफ्टी बाजार में एक ही सप्ताह में हाई कटऑफ और लो कटऑफ दोनों देखने को मिले। तीसरी तिमाही के नतीजे घोषित होने के बाद एक ही दिन में एचडीएफसी स्टॉक में अचानक गिरावट से निवेशकों को करीब 1 लाख करोड़ का नुकसान हुआ।

इस अस्थिरता में एक स्टॉक जिसने मजबूती से अपनी पकड़ बनाई है वह PSU स्टॉक है। IFRC share की वृद्धि ने शेयर बाजार के कई विश्लेषकों और विशेषज्ञों को आश्चर्यचकित कर दिया है। इस लेख में आइए IFRC share के विश्लेषण पर नजर डालें।

IFRC Share Price

शनिवार को विशेष कारोबारी दिन पर IFRC share लगभग 9.98% बढ़कर 52 सप्ताह के उच्चतम स्तर 176.25 पर बंद हुआ। सबसे खास बात यह है कि यह लगातार दूसरा दिन है जब IFRC share में अपर सर्किट लगा है। अगर वॉल्यूम के बारे में बात करें तो शनिवार को कुल 9.78 करोड़ IFRC शेयर यूनिट्स का कारोबार हुआ, जिसकी कुल ट्रेडिंग वैल्यू 256 करोड़ रुपये है।

यदि हम BSE डेटा का विश्लेषण करते हैं तो हम पाते हैं कि IFRC share एक सप्ताह में 55.57% और पिछले एक महीने में 90.73% बढ़ गए हैं। केवल तीन महीनों में स्टॉक में 128.99 की भारी बढ़ोतरी हुई है। पिछले दो वर्षों में IFRC share ने निवेशकों का पैसा आश्चर्यजनक रूप से 642.47% बढ़ा दिया है।

यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि IFRC share ने शेयर बाजार में अपनी शुरुआत ₹26 के निर्गम मूल्य से छूट पर की। 2021-2023 की अवधि से इस स्टॉक में ज्यादा हलचल नहीं देखी गई है। हालाँकि, 2023 में इसकी कीमत में उछाल ने विशेषज्ञों को भी चौंका दिया है।

IFRC Share Price: क्यों बढे इसके दाम 

ifrc share price

अभी IFRC अन्य रेलवे शेयरों में सबसे मूल्यवान रेलवे स्टॉक है। IFRC का मार्केट कैप 21 निफ्टी 50 शेयरों से अधिक मूल्यवान है, जिनमें से कुछ में महिंद्रा एंड महिंद्रा, BPCL, बजाज ऑटो और अन्य शामिल हैं।

IFRC शेयर बढ़ने का कारण यह है कि सरकार रेलवे के आधुनिकीकरण पर बहुत अधिक ध्यान दे रही है। इसलिए IFRC कंपनी के बढ़ने की बहुत गुंजाइश है क्योंकि रेलवे को परियोजनाओं को पूरा करने के लिए धन की आवश्यकता होगी और IFRC ऐसा करने का माध्यम है।

साथ ही, रेलवे कंपनियों को बहुत अच्छे ऑर्डर मिल रहे हैं और रेलवे द्वारा अगले 5-6 वर्षों में विस्तार की योजना बनाई जा रही है, इससे भी निवेशकों में IFRC के प्रति विश्वास बढ़ रहा है।

IFRC Share Price: क्या आपको IFRC में निवेश करना चाहिए 

वीएलए अम्बाला, सेबी विश्लेषक का मानना है कि IFRC के पास अपने सेगमेंट में एकाधिकार का आनंद लेने का अवसर है। इसमें विकास की काफी संभावनाएं हैं और कंपनी का बाजार पूंजीकरण उसकी क्षमता से काफी कम है। परिणामस्वरूप इसके स्टॉक में निवेश की गुंजाइश काफी अधिक और आकर्षक है।

उनका मानना है कि दो महीने की अवधि में IFRC share 200-210 के आसपास कारोबार करेगा। इसी तरह, लंबी अवधि में स्टॉक के 150-500 के आसपास भी कारोबार करने की उम्मीद है।

वह यह भी सुझाव दे रही है कि स्टॉक से अच्छा लाभांश प्राप्त करने के लिए IFRC share की प्रतीक्षा अवधि लगभग 1.5-2 वर्ष होनी चाहिए।

विलियम ओ’नील इंडिया के मयूरेश जोशी ने कहा कि सरकार के पास अभी भी कंपनी में 86.36% हिस्सेदारी है, जिससे बाजार में फ्री फ्लोट शेयर केवल 13.5% के आसपास उपलब्ध हैं। फ्री फ्लोट की उपलब्धता की कमी का मतलब है कि स्टॉक की कीमत में कोई भी उतार-चढ़ाव दोनों तरफ से अत्यधिक होगा।

इसलिए एक नए निवेशक के रूप में हमें सावधानी बरतनी होगी और IRFC share price की कीमत में गिरावट का इंतजार करना चाहिए। अनुभवी निवेशक फिलहाल इनमें से कुछ शेयरों जैसे आईआरएफसी, आरवीएनएल, रेलटेल को अपने पोर्टफोलियो में जारी रख सकते हैं।

ALSO CHECK: Tata के इस स्टॉक को देखकर इन्वेस्टर्स भी हैरान, कह दी इतनी बड़ी बात

Disclaimer: इस लेख में दिए गए विश्लेषण केवल सूचनात्मक और मनोरंजन उद्देश्य के लिए हैं। इसे निवेश सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए।

Sunil Jindal
Sunil Jindalhttps://universalnewstoday.com
hello my name is Sunil Jindal. I am an MBA graduate. i have been working in the financial market since last 5 years. i have worked as financial manager in leading firms like JP Morgan, PwC and others, i am constantly writing business and financial articles for financial magazines and blogs. Keep reading my articles to get better understanding of finance.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments