Tuesday, March 5, 2024
HomeBusinessSuzlon Energy Share ने तोड़ा 52 हफ़्तों का रिकॉर्ड, इन्वेस्टर्स हुए मालामाल 

Suzlon Energy Share ने तोड़ा 52 हफ़्तों का रिकॉर्ड, इन्वेस्टर्स हुए मालामाल 

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now

नमस्कार दोस्तों, इस लेख में हम ऊर्जा क्षेत्र के सबसे अच्छे मूविंग स्टॉक में से एक का विश्लेषण करने जा रहे हैं। जी हाँ, मैं ‘Suzlon Energy Share’ के बारे में बात कर रहा हूँ। यह शेयर वास्तव में अपने निवेशकों को बहुत अच्छा मुनाफा दे रहा है।

ऊर्जा क्षेत्र के इस स्टॉक ने एक साल के औसत में अपने अधिकांश प्रतिस्पर्धियों से बेहतर प्रदर्शन किया है। आइए हम ‘Suzlon Energy Share’ की प्रवृत्ति की गतिशीलता पर नजर डालें और कौन से कारक इसके भविष्य की कार्रवाई को प्रभावित करेंगे, उस पर भी गौर करें.

Suzlon Energy Shares: खूब चढ़े इसके दाम

अगर हम पिछले कारोबारी दिन के Suzlon Energy Share के प्रदर्शन को देखें तो शुक्रवार को स्टॉक 4.41 प्रतिशत बढ़कर अपने एक साल के उच्चतम स्तर 45.45 रुपये पर पहुंच गया। इस कीमत पर, मल्टीबैगर स्टॉक अपने 52-सप्ताह के निचले स्तर 6.96 रुपये से 553.02 प्रतिशत बढ़ गया है, जो पिछले साल 28 मार्च को देखा गया था। उस समय विशेषज्ञ इसे पेनी स्टॉक कह रहे थे।

suzlon energy shares

उल्लेखनीय है कि कारोबार के आखिरी दिन Suzlon Energy Share ₹44 पर खुला और ₹43.51 पर बंद हुआ। दिन के दौरान स्टॉक ₹44 के उच्चतम स्तर और ₹42.7 के निचले स्तर पर पहुंच गया था। मौजूदा मूल्यांकन पर नजर डालें तो Suzlon का बाजार पूंजीकरण ₹59,107.39 करोड़ है। BSE पर सुजलॉन के शेयरों का कारोबार 4,434,461 था।

Suzlon Energy Shares: क्यों बढे दाम

कुछ कारण हैं जो अभी स्टॉक को आगे बढ़ा रहे हैं। विशेषज्ञों का सुझाव है कि सरकार अपने लक्ष्य तक पहुंचने के लिए लगातार ग्रीन एनर्जी पर फोकस कर रही है, इससे इन कंपनियों को सपोर्ट मिल रहा है।

52 week high suzlon shares

सुजलॉन ने हाल ही में नए क्षेत्रों में अपनी क्षमता का विस्तार किया है जो कंपनी की मजबूत बुनियादी बातों को दर्शाता है। इसके अलावा, Suzlon Energy ने अपनी ऋण कटौती योजना की घोषणा की है और कुछ ब्रोकरेज फर्मों ने भी इसे खरीदने की सिफारिश की है।

शेयर बाजार विशेषज्ञों का मानना है कि उपरोक्त सभी कारणों से Suzlon Energy Share को निवेशकों का विश्वास हासिल करने में मदद मिली है।

NSE, BSE ने Suzlon Energy Share को डाला ASM में 

यह आपकी जानकारी के लिए है कि एक्सचेंज BSE और NSE ने Suzlon की प्रतिभूतियों को दीर्घकालिक ASM (अतिरिक्त निगरानी उपाय) ढांचे के तहत रखा है। आपको पता होना चाहिए कि शेयर की कीमतों में उच्च अस्थिरता के बारे में निवेशकों को सावधान करने के लिए एक्सचेंज शेयरों को अल्पकालिक या दीर्घकालिक ASM ढांचे में रखते हैं।

suzlon shares price today

विशेषज्ञों की राय है कि Suzlon Energy Share 50 रुपये की अगली बढ़त की ओर बढ़ रही है। स्टॉक को 36 रुपये के मूविंग एवरेज पर समर्थन मिला था। जब तक 50-एसएमए का समर्थन खत्म नहीं हो जाता, मौजूदा रुझान लचीला है। निवेशकों में इस शेयर को लेकर तेजी का माहौल है। विशेषज्ञ यह भी कहते हैं कि एक महीने के लिए अपेक्षित ट्रेडिंग रेंज 36 रुपये से 55 रुपये के बीच होगी।

ALSO CHECK: Ford के प्लांट में बनेंगी टाटा की Punch EV, Tigor EV और Nexon EV

DISCLIAMER: इस लेख में प्रस्तुत विचार और विश्लेषण केवल सूचना और मनोरंजन के उद्देश्य से हैं। इसे निवेश सलाह के रूप में नहीं लिया जाना चाहिए.

लोगों ने और क्या पूछा 

1. भारत में शेयर बाज़ार का नियामक कौन है?

भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड (SEBI) भारत में शेयरों की नियामक संस्था है।

Sunil Jindal
Sunil Jindalhttps://universalnewstoday.com
hello my name is Sunil Jindal. I am an MBA graduate. i have been working in the financial market since last 5 years. i have worked as financial manager in leading firms like JP Morgan, PwC and others, i am constantly writing business and financial articles for financial magazines and blogs. Keep reading my articles to get better understanding of finance.
RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Most Popular

Recent Comments